Monday, February 19, 2024
HomeBusinessPotato Farming: जमीन के नीचे नहीं  अब हवा में उगाएं आलू, किसानों...

Potato Farming: जमीन के नीचे नहीं  अब हवा में उगाएं आलू, किसानों को होगा बड़ा लाभ 

- Advertisement -

Potato Farming: किसान अब एरोपोनिक तकनीक के जरिए हवा में आलू उगा सकते हैं. इस तकनीक को हरियाणा के कारा जिले में स्थित आलू प्रौद्योगिकी केंद्र द्वारा विकसित किया गया है। सरकार(sarkar) ने इस तकनीक का इस्तेमाल कर आलू की खेती को मंजूरी दे दी है। इस तकनीक को लाइसेंस देने का अधिकार मध्य प्रदेश(madhyapradesh) बागवानी विभाग(vibhag) को दिया गया है. और इसकी जिम्मेदारी को सौपा गया हैं.

- Advertisement -

Potato Farming: देश में आलू की प्रमुख खेती। अधिकांश क्षेत्रों में आलू खेती के तरीके थे। किसानों की फसल कभी बारिश तो कभी सूखे की वजह से होती है। हालांकि, किसानों के पास अब उबरने के वैज्ञानिकों से आलू उगाने की नई तकनीक है। इस विधि के आधार पर किसान आलू की खेती हवा में कर सकता है। इससे उनका समय भी बचेगा। वे लाभ को कई गुणा करेंगे.

इस तकनीक को आलू टेक्नोलॉजी सेंटर द्वारा विकसित किया गया है

इस तकनीक को एरोपोनिक्स कहा जाता है। इस तकनीक को हरियाणा के कारा जिले में स्थित आलू टेक्नोलॉजी द्वारा विकसित किया गया है। इस तकनीक की मदद से किसानों को आलू की खेती करने की भी छूट है। मध्यप्रदेश के उद्यानिकी विभाग को इस तकनीक से आलू उगाने की मंजूरी मिल गई है। साथ ही मध्य प्रदेश बागवानी विभाग किसानों को इस तकनीक का लाइसेंस दे रहा है.

किसानों को मिलेगा बंपर मुनाफा

वैज्ञानिकों का कहना है कि किसानों के लिए इस तकनीक को खरीदना ही काफी है। इसे किसान को कम खर्च में ज्यादा फायदा मिलेगा. वीडियो में यह भी बताया गया हैं की किसानों का मुनाफा कैसे बढाया जाए. इस तकनीक में, लोग ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाया जा सकता हैं. इसके लिए भूमि की कोई आवश्यकता नहीं हैं.

‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍पैर के ऊपरी हिस्से को खुली हवा और रोशनी में रखा जाता है

मृदा जनित रोगों की कम संभावना

एरोपोनिक तकनीक के प्रयोग से मृदा जनित रोगों की संभावना भी कम होती है, किसानों को होने वाला नुकसान काफी कम होता है। इस तकनीक के लिए किसानों को मुआवजा दिया जाएगा, इसकी जिम्मेदारी बागबानी विभाग ने किसानों को दी है.

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular