Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshMP - रीवा में पटवारी 10000 व नरसिंहपुर में SDOP का रीडर...

MP – रीवा में पटवारी 10000 व नरसिंहपुर में SDOP का रीडर 30,000 की रिश्वत लेते ट्रेप

- Advertisement -

MP Rewa News Live: रीवा लोकायुक्त पुलिस ने 10 हजार की रिश्वत लेते पटवारी(patwari) को जबकि नरसिंहपुर मैं जबलपुर लोकायुक्त टीम ने एसडीओपी(sdop) के लीडर को 30000 की रिश्वत लेते रंगे हांथो ट्रेप किया है.

- Advertisement -

MP: लोकायुक्त लगातार प्रदेशभर में कार्यवाही तेज भली कर दी है लेकिन अभी भी मध्यप्रदेश(madhyapradesh) के रिश्वतखोर अधिकारी कर्मचारी रिश्वत लेने से बाज नहीं आ रहे हैं अब जहां रीवा लोकायुक्त पुलिस (lokayukta police) ने एक पटवारी को 10000 की रिश्वत लेते पकड़ा है तो वही जबलपुर लोकायुक्त टीम ने नरसिंहपुर के एसडीओपी के लीडर को 30000 की रिश्वत लेते रेप किया है.

बता दें कि लोकायुक्त रीवा द्वारा यह कार्रवाई रतहरा स्थित कार्यालय में की गई है। यह कार्रवाई उप पुलिस अधीक्षक प्रवीण सिंह परिहार के निर्देश पर निरीक्षक जिला उल हक द्वारा की गई। दरअसल रतहरा निवासी अनुराग मिश्रा प्रापर्टी डीलर का काम करता है। गत दिवस पटवारी धीरज पाण्डेय पटवारी हल्का रतहरा तहसील हुजूर नगर रीवा द्वारा निर्माण कार्य में आपत्ति लगा कर रिश्वत की मांग की गई थी. MP

इस बात की शिकायत फरियादी द्वारा लोकायुक्त से की गई। लोकायुक्त द्वारा जब मामले की जांच की गई तो आरोप सही पाया गया। शिकायत की पुष्टि होने के बाद बुधवार को लोकायुक्त टीम ने कार्रवाई करते हुए आरोप पटवारी को उस वक्त रंगे हांथो पकड़ लिया जब आरोपी ने फरियादी से 10 हजार रूपए लिए. MP

पूर्व में ले चुका है डेढ़ लाख

फरियादी ने आरोपी पटवारी काफी समय से परेशान किया जा रहा था। पूर्व में फरियादी द्वारा आरोपी को डेढ़ लाख रूपए भी दिया जा चुका है। सूत्रों की माने तो जब पटवारी ने फिर से 10 हजार की मांग की तो फरियादी के धैर्य का बांध टूट गया उसने मामले की शिकायत लोकायुक्त में कर दी। गौरतलब है कि जमीन का नाम कर पक्ष में लिखा पढ़ी करने के एवज में पटवारी द्वारा रिश्वत की मांग की जा रही थी। पटवारी द्वारा फरियादी द्वारा कराए जा रहे निर्माण कार्य में भी रोक लगा दी थी। कार्रवाई के दौरान इस टीम में प्रधान आरक्षक मुकेश मिश्रा, शैलेन्द्र, शिवेन्द्र, धर्मेन्द्र, सुजीत सहित अन्य लोग उपस्थित रहे. MP

नरसिंहपुर में एसडीओपी का रीडर 30000 की रिश्वत लेते पकड़ाया

बता दें कि जबलपुर लोकायुक्त पुलिस Lokayukta Police को शिकायत मिली थी कि गाडरवारा एसडीओपी का रीडर संजय दीक्षित 30 हजार की रिस्वत मांग रहा है शिकायत की पुष्टि होने के बाद लोकायुक्त जबलपुर पुलिस ने योजनाबद्ध तरीके से रिश्वतखोर रीडर रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है. Jabalpur lokayukt raid

दरअसल नरसिंहपुर मगरधा के 67 वर्षीय वृद्ध मेरसिंह लोढ़िया Mersingh Lodhia लोकायुक्त से शिकायत Complaint to Lokayukta की थी कि परिवार के विरुद्ध उनके बड़े बेटे की बहू ने मरने के पहले गाडरवारा थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. जिसके निराकरण के लिए रीडर 60000 की मांग की गई थी जिसकी पहली किश्त पीड़ित वृद्ध ने तीस हजार 15 नवंबर को दे चुका था. रिश्वत की जब दूसरी किस्त रिश्वत ले रहा था उसी दौरान लोकायुक्त पुलिस Lokayukta Police ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. Jabalpur lokayukt raid

मिली जानकारी के अनुसार मगरधा निवासी वृद्ध एसडीओपी के रीडर एक मामले को निपटाने के लिए 60000 की रिश्वत मांगी थी. फरियाली परेशान होकर रीडर की शिकायत लोकायुक्त पुलिस Lokayukta Police से कर दी जहां योजनाबद्ध तरीके से जबलपुर लोकायुक्त की 9 सदस्य टीम ने रिश्वतखोर एसडीओपी के रिश्वतखोर रीडर को 30000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है इस कार्यवाही के दौरान रीडर सकपका गया वह पसीना पसीना हो गया. जहां लोकायुक्त टीम ने उसे नॉर्मल करते करते हुए कार्यवाही पूरी की है. Jabalpur lokayukt raid

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular