Wednesday, September 27, 2023
HomeNationalUP : किसानों को सोलर पंप लगाने का सुनहरा मौका मोदी और...

UP : किसानों को सोलर पंप लगाने का सुनहरा मौका मोदी और योगी 60% तक देंगे अनुदान

- Advertisement -

UP : दूसरी बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ(yogi adityanath) लगातार एक के बाद एक कड़े फैसले ले रहे हैं जहां पर अपराधी और गुंडा बदमाशों के लिए कठोर (kathor) कदम उठा रहे हैं तो वहीं किसानों(kisaano) की बदहाली स्थिति को सुधारने के लिए एक के बाद एक नया तोहफा(tohfa) दे रहे हैं.

वही योगी मंच से ही कहते हैं कि अब देश में डबल इंजन(double engine) की सरकार है केंद्र(kendra) में जहां पीएम मोदी(pm modi) हैं तो वही राज्य में योगी आदित्यनाथ(yogi adityanath) की सरकार है.

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश सरकार(uttar pradesh sarkar) किसानों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर सोलर पंप(solar pump) मुहैया करा रही है. ये सोलर पंप(solar pump) किसानों को 60 फीसदी सब्सिडी पर दिए जा रहे हैं. बता दें कि सोलर पंप(solar pump) की कुल लागत का 40 फीसदी ही किसानों को वहन करना होता है. आइए जानते हैं कि कैसे हम इस सोलर पंप का फायदा उठा सकते हैं. UP


देश भर के कई राज्य बिजली की समस्या से बुरी तरह प्रभावित हैं. किसान सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. फसलों की सिंचाई बुरी तरह ठप हो गई है. यह समस्या उत्तर प्रदेश में व्यापक रूप से देखी जाती है. राज्य सरकार ने ऐसी स्थितियों में किसानों की मदद के लिए 10,000 सौर पंप आवंटित किए हैं. UP

इसके आधार पर किसानों को सोलर पंप दिए जा रहे हैं

उत्तर प्रदेश सरकार किसानों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर सोलर पंप मुहैया करा रही है. सोलर पंप की कुल लागत का 30 प्रतिशत राज्य सरकार वहन करती है और 30 प्रतिशत केंद्र सरकार वहन करती है. इसमें से 40 फीसदी पैसा ही किसानों को खुद जमा करना होता है, यानी उन्हें 60 फीसदी सब्सिडी मिल रही है. UP

सोलर पंप का चुनाव कैसे करें?

टोकन प्रक्रिया के आधार पर सौर पंपों की स्थापना के लिए लाभार्थियों का चयन किया जाता है। किसानों को एक सप्ताह के भीतर चालान के माध्यम से बैंक में जमा करना होगा। उसके बाद सोलर पंप किसान को सौंप दिया जाता है। सोलर पंप सिंचाई से किसानों को हो सकता है लाभ उत्तर प्रदेश के 62 से अधिक जिलों ने इस साल सूखे का सामना किया है. UP

बिजली से सिंचाई करना किसानों के लिए काफी महंगा साबित हो रहा है। डीजल पंपों की मदद से सिंचाई भी किसानों की जेब पर भारी पड़ रही है। स्थिति के आधार पर अन्य विकल्प तलाशे जा रहे हैं। अब इस चरण में उत्तर प्रदेश सरकार किसानों को पहले आओ पहले पाओ के आधार पर सोलर पंप उपलब्ध करा रही है। उत्तर प्रदेश सरकार के इस फैसले से उनकी सिंचाई की समस्या काफी हद तक हल हो सकती है. UP

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular