Wednesday, February 1, 2023
HomeBusinessStocks to buy: यह लॉजिस्टिक्‍स स्‍टॉक बना राकेट, मिल रहा 100% से...

Stocks to buy: यह लॉजिस्टिक्‍स स्‍टॉक बना राकेट, मिल रहा 100% से ज्‍यादा रिटर्न; ब्रोकरेज की Buy रेटिंग बड़ी 

- Advertisement -

Stocks to buy: वैश्विक ब्रोकरेज हाउस ने लॉजिस्टिक्स और सप्लाई चेन स्पेस की कंपनी डेल्हीवरी के स्टॉक पर अपनी निवेश रणनीति (ranneeti) का खुलासा किया है. ब्रोकरेज हाउसों (brokrage house) का मानना ​​है कि भारत में ई-कॉमर्स (e-commerce) उद्योग की वृद्धि धीमी (vridhhi slow) हो गई है. हालांकि, भविष्य (bhavisya) में बी2बी(b2b) से मुनाफा आ सकता है.
ट्विटर फेसबुक लिंक्डइन

Stocks to buy: delhivery को इसी साल मई में लिस्ट किया गया था। लिस्टिंग (listing) के बाद से स्टॉक(stock) लगभग 38 फीसदी नीचे है.

- Advertisement -

delhivery की ब्रोकरेज रणनीति क्या है?

खरीदने के लिए स्टॉक: वैश्विक ब्रोकरेज हाउस ने लॉजिस्टिक्स और सप्लाई चेन स्पेस की कंपनी डेल्हीवरी के स्टॉक पर अपनी निवेश रणनीति का खुलासा किया है। ब्रोकरेज हाउसों का मानना ​​है कि भारत में ई-कॉमर्स उद्योग की वृद्धि धीमी हो गई है। हालांकि, भविष्य में बी2बी से मुनाफा आ सकता है। ब्रोकरेज ने स्टॉक पर अपने लक्ष्य मूल्य को भी संशोधित किया. हाल ही में त्योहारी सीजन के बाद से ई-कॉमर्स की बिक्री में तेजी आई है। जिसका फायदा लॉजिस्टिक्स और सप्लाई चेन कंपनियों को भी दिया जा रहा है। दिल्लीवेरी को इसी साल मई में लिस्ट किया गया था। लिस्टिंग के बाद से स्टॉक लगभग 38 फीसदी नीचे है. Stocks to buy


ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस एचएसबीसी ने डेल्हीवरी पर बाय रेटिंग बरकरार रखी है। हालांकि, टारगेट प्राइस 701 रुपये से घटाकर 455 रुपये कर दिया गया है। ब्रोकरेज का मानना ​​है कि यह लगातार दूसरी तिमाही में कमजोर हुआ है. नतीजे बाजार की उम्मीदों के मुताबिक नहीं रहे। ऐसा माना जाता है कि भारत में ई-कॉमर्स उद्योग की वृद्धि धीमी हो गई है। डिलिवारी का व्यवसाय आम तौर पर एक ऑपरेटिंग लीवरेज्ड व्यवसाय है. Stocks to buy

जेफरीज ने डिलिवरी पर बाय रेटिंग बरकरार रखी। साथ ही प्रति शेयर लक्ष्य मूल्य 700 टका रखा गया है। 23 नवंबर 2022 को स्टॉक 326 रुपये पर बंद हुआ। इस प्रकार, मौजूदा कीमत पर, निवेशक इस स्टॉक में 114% से अधिक का और रिटर्न देख सकते हैं.

जेफरीज का कहना है कि कंपनी की बी2सी में अस्थायी बनाम संरचनात्मक मंदी है। मुनाफे पर फोकस के साथ बी2बी में तेजी आएगी। मौजूदा कीमतों पर एक्सप्रेस पार्सल 3-5 साल में 6-8 फीसदी तक बढ़ सकते हैं। जो पहले 25 फीसदी था। B2B विकास अनुमान, परिचालन उत्तोलन और कम ई-कॉमर्स पैठ को कम करके आंका. Stocks to buy

आपको बता दें, सितंबर तिमाही (Q2FY23) में डेल्हीवरी का घाटा एक साल पहले की समान अवधि में 635 करोड़ रुपये से घटकर 2545 करोड़ रुपये रह गया। जून 2022 तिमाही में यह 399 करोड़ रुपये थी। Q2FY23 में कंपनी का राजस्व 22 प्रतिशत बढ़कर 1796 करोड़ रुपये हो गया। जो पिछले साल की समान तिमाही में 1497 करोड़ रुपये था.

delhivery: 24 मई को सूचीबद्ध
दिल्ली का आईपीओ इसी साल 24 मई को बाजार में लिस्ट हुआ था. स्टॉक बीएसई पर 493 रुपये पर लिस्ट हुआ था, जबकि एनएसई यानी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) पर यह 495 रुपये पर लिस्ट हुआ था। शेयर का निर्गम मूल्य 487 रुपये था. इस प्रकार, स्टॉक बीएसई पर 6 रुपये और एनएसई पर 8 रुपये के प्रीमियम पर सूचीबद्ध हुआ था बता दें कि यह आईपीओ 11-13 मई तक खुला था और यह आईपीओ 13 मई यानी इसके जारी होने के आखिरी दिन पूरी तरह भरा गया था. कंपनी ने इस शेयर के लिए 462-487 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया था. लिस्टिंग के वक्त कंपनी का वैल्यूएशन महंगा बताया जा रहा है.

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular