Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshSingrauli: उपखंड तथा तहसीलदार ने जूस पिलाकर तोड़वाया बर्खास्त पटवारी का अनशन

Singrauli: उपखंड तथा तहसीलदार ने जूस पिलाकर तोड़वाया बर्खास्त पटवारी का अनशन

- Advertisement -

Singrauli: तत्काल हटाए जाएंगे  बाबू मुनींद्र मिश्रा(munindra mishra), अन्य कईयों के खिलाफ होगी जांच, बर्खास्त पटवारी(patwari) को भी मिलेगा न्याय

- Advertisement -

Singrauli: सिंगरौली, करीब 10 वर्षों से न्याय की गुहार लगा रहे बर्खास्त पटवारी हरिशंकर शुक्ला(patwari harishankar shukla) सोमवार को एसडीएम कार्यालय(sdm karyalaya) के पीछे अनशन पर बैठे थे, अनशन पर बैठते ही स्थानीय प्रशासन इस मसले को गंभीरता से लिया और पहले ही दिन अनशनरत बर्खास्त पटवारी(patwari) को जूस पिलाकर अनशन तुड़वा दिया गया.

बता दें कि अनशन तुड़वाने गए अधिकारियों के साथ वरिष्ठ समाजसेवी एवं जनपद सदस्य पति घनश्याम पाठक, समाजसेवी कालीचरण चतुर्वेदी, एवं अधिवक्ता श्री नाथ पाठक सहित अन्य कई समाजसेवी मौजूद रहे,उपखंड अधिकारी तथा तहसीलदार ने अनशन पर बैठे बर्खास्त पटवारी(patwari) को आश्वासन देते हुए कहा कि अतिशीघ्र निष्पक्ष जांच की जाएगी तथा जांच के दौरान दोषी पाए जाने वाले अधिकारी कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी वही पीड़ित पटवारी(patwari) के ऊपर की गई कार्यवाही के संबंध में भी एसडीएम(sdm) तथा तहसीलदार ने निष्पक्ष जांच करने का आश्वासन दिया है एसडीएम ने कहा कि निष्पक्ष जांच कर निर्दोष पाए जाने की स्थिति में तत्काल बहाल कर दिया जाएगा. Singrauli

उल्लेखनीय है कि देवसर के कटौली निवासी पटवारी हरिशंकर शुक्ला करीब 10 वर्षों से बर्खास्त चल रहे हैं उनका आरोप है कि तहसील देवसर के जिम्मेदारों ने उन्हें गलत तरीके से बर्खास्त किया है इस कार्यवाही में कई लोग शामिल थे जिनके खिलाफ आज तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी जबकि करीब 10 वर्ष से शिकायत की जा रही है लेकिन आज तक उन्हें न्याय नहीं मिला है. Singrauli

फिलहाल सोमवार को अनशन पर बैठे पीड़ित पटवारी ने एसडीएम तथा तहसीलदार के आश्वासन के बाद अनशन तोड़ते समय ज्ञापन दिया, ज्ञापन में बिंदुवार मांग की गई है प्रमुख रूप से पटवारी हरिशंकर शुक्ला को जिस आरोप की वजह से तत्कालीन अधिकारियों ने बर्खास्त किया था उस आरोप की निष्पक्ष जांच हो बताया गया कि यदि निष्पक्ष जांच होगी तो पटवारी निर्दोष पाए जाएंगे तथा कईयों के ऊपर गाज गिर सकती है क्योंकि जिस गलती की सजा पटवारी 10 वर्षों से भुगत रहे हैं वह गलती पटवारी श्री शुक्ला नहीं किए हैं बल्कि वह गलती तहसील कार्यालय में सक्रिय एक गिरोह ने किया था लेकिन अपना दोष बेगुनाह पटवारी के ऊपर मढ कर खुद मलाई काट रहे हैं और पटवारी को बलि का बकरा बना दिया गया. Singrauli

ज्ञात हो कि तहसील तथा उपखंड कार्यालय में आज भी कई बाबू जमे हुए हैं जो उस समय पदस्थ थे जब पटवारी को बर्खास्त किया गया था और इन बाबुओं का बहुत पहले देवसर से अन्यत्र स्थानांतरण हो चुका था लेकिन स्थानांतरण के बाद भी  बाबू जमे हुए हैं प्रमुख रूप से बाबू मुनेंद्र मिश्रा के ऊपर इस तरह के गंभीर आरोप लगाए जा रहे हैं बताते हैं कि उनका कई बार यहां से स्थानांतरण हुआ लेकिन देवसर कार्यालय में आज भी जमे हुए हैं, फिलहाल अनशन पर बैठे बर्खास्त पटवारी हरिशंकर शुक्ला को  एसडीएम तथा तहसीलदार ने जूस पिलाकर पहले ही दिन अनशन तुड़वा कर उन्हें न्याय देने का आश्वासन दिया है, वहीं अनशन रथ पीड़ित पटवारी ने कहा कि यह दिन समय से न्याय नहीं मिला तो आगे भूख हड़ताल किया जाएगा. Singrauli

यह भी पढ़े — CM Shivaraj की सिंगरौली में हो रहीं बदनामी!विधायकों की तबादला सूची लीक,सरई चर्चित लिपिक चर्चा में

यह भी पढ़े — Bhopal News: राजधानी की 10 बड़ी खबरें, छोटी झील का नजारा देख घूमने का करने लगेगा मन

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular