Friday, March 1, 2024
HomeMadhya PradeshSingrauli News: महापौर बदले,बदले कमिश्रर नही बदली ननि की सूरत व सीरत,...

Singrauli News: महापौर बदले,बदले कमिश्रर नही बदली ननि की सूरत व सीरत, जनता के खुलने लगे कंठ,काश वही पार्टी रहती तो अच्छा था

- Advertisement -

Singrauli News: सिंगरौली। कहने को तो नगर पालिक निगम सिंगरौली में महापौर और कमिश्नर दोनो बदल गए हैं। अब आम आदमी पार्टी(Aam Aadmi Party) की महापौर और नए कमिश्रर निगम की व्यवस्थाओं की बागडोर भले ही संभाल ली है. लेकिन सूरत और सीरत(Surat and Sirat) जस की तस बनी हुई है. कहने का मतलब यह है कि नगर निगम का जो काम करने का तरीका था वह और भी ज्यादा बेपटरी (off track) हो गई है. हालात इस कदर हो गए हैं कि अब व्यक्ति कहने लगा है कि काश वही पार्टी (Party) होती तो काम बेहतर होता

- Advertisement -


गौरतलब हो कि लम्बे समय से अपनी कार्यप्रणाली को लेकर सुर्खियां बटोरने वाला नगर पालिक निगम सिंगरौली एक बार फिर सुखिर्यो में है,वजह है नये निगमायुक्त के कार्यभार सम्भालने के दो महीने बीत जाने के बाद भी व्यवस्थाओं में बदलाव नहीं आ रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नगर पालिक निगम सिंगरौली में विगत वर्षो से अपनी सेवा देने वाले पूर्व आयुक्त की कार्यप्रणाली को लेकर नगर पालिक निगम सिंगरौली पहले ही काफी सुर्खिया बटोर चुका था. Singrauli News

अनुमान यह लगाया जा रहा था कि किसी नये आयुक्त के आने के बाद व्यवस्थाओं में अमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल सकता है। विगत दो माह से अधिक समय पूर्व नये आयुक्त के रूप में पवन सिंह ने पदभार ग्रहण किया। श्री सिंह की नगर पालिक निगम सिंगरौली के गठन के बाद आयुक्त के रूप में पहली पदस्थापना थी. Singrauli News

अनुमान यह लगाया जा रहा था कि आयुक्त के रूप में पदभार ग्रहण करने वाले श्री सिंह नगर पालिक निगम सिंगरौली की कार्यप्रणाली में बदलाव लायेंगे। जिससे जहां विकास के नये मार्ग खुलेंगे। वहीं कार्यो में पारदर्शिता के साथ ही निर्माण कार्य में गुणवत्ता की अनदेखी की चल रही प्रक्रिया पर विराम लगेगा। माना यह जा रहा था कि एकाध महीने वस्तु स्थिति का अध्ययन करने के बाद श्री सिंह द्वारा कुछ कड़े निर्णय लिये जायेंगे,जो शहर वासियों के हित में होगा। लेकिन दो माह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी ऐसा कुछ देखने को नहीं मिला। जिससे शहरवासी निराश है. Singrauli News
कई तो बिना प्रभार,कईयों को आधा दर्जन प्रभार
नगर पालिक निगम सिंगरौली में पदस्थ कई अधिकारी सेवामुक्त हो चुके हैं। ऐसी स्थिति में अधिकारी-कर्मचारियों का आभाव है, जिसे नकारा नहीं जा सकता। पूर्व आयुक्त द्वारा नगर निगम सिंगरौली में अधिकारियों-कर्मचारियों के बीच कार्य विभाजन किया गया था। जिसे लेकर कयासों का बाजार गर्म था। कुछ अधिकारियों के पास जहां प्रभार का भार था। वहीं कुछ अधिकारी-कर्मचारी ऐसे थे जिनके पास कोई प्रभार नहीं था। माना यह जा रहा था कि किसी नये निगमायुक्त की पदस्थापना के बाद अधिकारी-कर्मचारियों के बीच कार्य विभाजन होगा। जिसमें अधिकारियों-कर्मचारियों की वरीयता एवं योग्यता के आधार पर जिम्मेदारियां सौंपी जायेंगी. Singrauli News


महापौर व कमिश्रर नही कर रहे जांच
नगर पालिक निगम सिंगरौली क्षेत्र में लगातार निर्माण कार्य चल रहे हैं। चाहे सडक़ का निर्माण कार्य हो या फिर नाली निर्माण सहित अन्य कार्यो को लेकर कमिश्रर और महापौर के द्वारा जांच नही की जा रही है। यही वजह है कि नगरीय क्षेत्र में जमकर निर्माण कार्यो के नाम पर गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो रहे हैं। निर्माण कार्यो में मोटी राशि व्यय होने के बाद भी निर्माण कार्य शीघ्र ही क्षतिग्रस्त होते रहे हें।  गुणवत्ता की अनदेखी करने वाले जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारियों के साथ-साथ संविदाकारों के खिलाफ  भी एक्शन की संभावनाएं बन रही थी। लेकिन ऐसा कुछ देखने को नहीं मिला। लोगों से लम्बे-चौड़े वायदे कर चुनाव जीतने वाले जनप्रतिनिधि जहां इस मामले में मौन है। वहीं निगमायुक्त की कार्यप्रणाली को लेकर भी सवालिया निशान लगने लगे हैं. Singrauli News

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular