Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshSidhi: मुख्यमंत्री की साख पर बट्टा लगा रही दीपमाला…कलेक्टर बोले - टास्क...

Sidhi: मुख्यमंत्री की साख पर बट्टा लगा रही दीपमाला…कलेक्टर बोले – टास्क फोर्स को करूंगा एक्टिव

- Advertisement -

Sidhi: सीधी – सीएम शिवराज सिंह चौहान(Shivraj Singh Chauhan) खुले मंच से दावा करते हैं कि प्रदेश में रेत का अवैध उत्खनन(illegal mining) और परिवहन बंद है. लेकिन सीधी जिले(Sidhi District) में ऐसा बिल्कुल नहीं है यहां दिनदहाड़े गोपद नदी(gopad river) के बीच रेत माफिया पोकलैंड मशीन(pokeland machine) उतारकर उत्खनन कर रहा है. सीधी खनिज अधिकारी(mineral officer) दीपमाला सीएम शिवराज सिंह चौहान की साख पर बट्टा लगा रही हैं.

हालांकि नवनियुक्त कलेक्टर साकेत मालवीय(Saket Malviya) अब टास्क फोर्स(task Force) का गठन कर रेत के अवैध उत्खनन(illegal mining) परिवहन पर रोक लगाने की बात कही है.

- Advertisement -

बता दें की साल भर के भीतर विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. सीएम शिवराज लगातार भू माफिया, मिलावटखोरों, शराब माफिया, गाजा माफिया, रेत माफिया पर शिकंजा कसने के लिए सख्त हिदायत देते नजर आते हैं.लेकिन उनके पद चिन्हों पर ना तो भाजपा विधायक और ना ही जिले का कोई आला अधिकारी चलते नजर आ रहे हैं. ऐसे में रेत माफिया जिले भर में नदी के बीचो-बीच पोकलेन मशीन उतारकर नदी का सीना छलनी करने में लगें हैं और फिर इस रेत को यूपी के बॉर्डर में पहुंचा कर मनमाफिक पैसा वसूलते हैं. ऐसे में जिले के लोगों को महंगी कीमत पर रेत मिलने से अब आम जनमानस में भाजपा सरकार की जमकर किरकिरी हो रही है. Sidhi

रेत माफिया को मिल रहा सियासी संरक्षण ?,

गोपद नदी से रेत का खनन जारी है. रेत माफिया के हौसले इतने बुलंद हैं कि, वो बेखौफ नदियों का सीना छलनी कर रहे हैं, प्रशासन के लिए रेत माफिया पर लगाम लगाना बड़ी चुनौती बन गया है. या फिर पुलिस के ही सरपरस्ती में रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा है हालांकि कहा यह भी जा रहा है कि बिना सियासी संरक्षण के रेत क़्या एक चप्पल भी चोरी नहीं हो सकता. Sidhi

पुलिस चाहिए तो रेट क्या एक चप्पल नहीं होगी चोर

स्थानीय जानकारों की माने तो भाजपा शासनकाल में सीधी जिले का कोई ऐसा विकास कार्य नहीं हुआ जिसे मॉडल बताया जा सके. अवैध खनन पर नजर रखने वाले वरिष्ठ पत्रकार विद्यासागर गुप्ता ने बताया कि बीजेपी हो या कांग्रेस दोनों ही दलों की सरकारों में रेत खनन जमकर होता है. क्योंकि दोनों ही दलों के नेताओं का रेत माफियाओं को संरक्षण है जिसका सबसे बड़ा कारण सीधी जिले क्षेत्र में रेत खनन करने वालों का वोट बैंक. जिसका असर चुनाव में पड़ता है जिसके चलते नेता चुनाव के समय अवैध खनन में मदद करने के भरोसे पर ही वोट मांगते हैं. राज्य सरकार प्रशासन और पुलिस को छूट दे तो मात्र 24 घंटे में अवैध खनन पर रोक लगाया जा सकता है. Sidhi

इनका कहना है 

Sidhi: मुख्यमंत्री की साख पर बट्टा लगा रही दीपमाला…कलेक्टर बोले - टास्क फोर्स को करूंगा एक्टिव
photo by google

आपके द्वारा गोपद नदी के बीच पोकलेन मशीन की खबर जानकारी मिली है यह बिल्कुल गलत है मैं जल्द ही टास्क फोर्स टीम को एक्टिव करूगा साथ ही नियम विरुद्ध तरीके से उत्खनन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

साकेत मालवीय – कलेक्टर – सीधी

यह भी पढ़े — Rewa: अंडा करी नहीं बनने पर गुस्साए पति ने पत्नी को जलाया जिंदा! सप्ताह भर तड़पने के बाद तोड़ा दम

यह भी पढ़े — क्या सिंगरौली नव नियुक्त जिला अधिकारी खनिज विभाग के अवैध उत्खनन, न देख पाने वाले मोतियाबिंद का सफल ऑपरेशन कर पाएंगे ?

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular