Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshPublic Works Department : लोक निर्माण विभाग में दो कार्यपालन यंत्रियों के...

Public Works Department : लोक निर्माण विभाग में दो कार्यपालन यंत्रियों के बीच रसाकस्सी, B.S. मरावी का सिंगरौली से नहीं हो रहा मोहभंग, उच्च न्यायालय से मिला है स्थगन आदेश

- Advertisement -

Public Works Department : Rasaksi between two executive engineers in Public Works Department, B.S. Maravi is not disillusioned with Singrauli, has got stay order from High Court

Public Works Department सिंगरौली 14 जुलाई। लोक निर्माण विभाग सब डिवीजन सिंगरौली में इन दिनों दो कार्यपालन यंत्रियों के बीच जंग छिड़ी हुई है। बीएस मरावी उच्च न्यायालय से स्थगन आदेश हासिल कर फिर से कार्यपालन यंत्री का प्रभार लेने ख्वाज देख रहे हैं। चर्चा है की बीएस मरावी का सिंगरौली से मोहभंग नहीं हो रहा है।

गौरतलब हो की दो महीने पूर्व तक Public Works Department सिंगरौली में पदस्थ तत्कालीन कार्यपालन यंत्री बीएस मरावी दफ्तर में हमेशा धार्मिक चर्चाओं को लेकर सुर्खियों में थे और वे हमेशा हरिश्चन्द्र की तरह ईमानदारी का पाठ पढ़ा रहे थे और जब इनका जिले से तबादला हो गये और तब वे स्थानांतरण के विरूद्ध स्थगन आदेश लाने के लिए उच्च न्यायालय जबलपुर में दौड़ लगाने लगे और सफल भी हो गये। वहीं कार्यपालन यंत्री एमके परते ने भी प्रभार लेकर कामकाज शुरू कर दिया था और अभी भी एमके परते कार्य कर रहे हैं।

- Advertisement -

जानकारी के अनुसार कार्यपालन यंत्री बीएस मरावी हमेशा सिंगरौली से स्वयं स्थानांतरण कराने की बात करते आ रहे थे। जब स्थानांतरण हो गये तब सिंगरौली के प्रति अचानक मोह माया बढ़ गयी और अब सिंगरौली में ऐसा क्या है की बीएस मरावी का मोहभंग नहीं हो रहा है। इस बात को लेकर विभाग में तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं। इधर इसके पूर्व एमके परते भी यहां बतौर एसडीओ के रूप में सेवाएं दे चुके हैं। Public Works Department

फिलहाल Public Works Department सिंगरौली में दो कार्यपालन यंत्रियों को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं। साथ ही विभाग के कर्मचारी भी खूब हंसी-ठिठोले ले रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सिंगरौली जिले में डीएमफ का बड़ा एक फंड है जिस पर अधिकारियों समेत भोपाल मैं सफेदपोश नेताओं की भी नजर रहती है और वह अपने चहेते अधिकारियों को मलाईदार कुर्सी में बैठा कर भ्रष्टाचार कराते हैं यही वजह है कि जो अधिकारी सिंगरौली आ जाता है वह यहां से जाने का नाम नहीं लेता और यहां रुकने के लिए हर वह हथकंडे अपनाता है जो भले ही नियम विरुद्ध हो।

संविदाकार व कर्मचारी पशोपेश में

Public Works Department सिंगरौली में दो कार्यपालन यंत्री कामकाज देख रहे हैं। जिसको लेकर संविदाकार एवं कर्मचारी पशो पेश में हैं। हालांकि अभी तक एमके परते निर्वाचन कार्य में जुड़े थे। इसलिए दफ्तर में कम ही समय दे पा रहे थे। अब निर्वाचन कार्य पूर्ण होने के बाद देखना है की लोनिवि में किस कार्यपालन यंत्री का दखल रहता है। दोनों कार्यपालन यंत्री अलग-अलग समय में दफ्तर पहुंचते हैं और दोनों के अलग-अलग कक्ष भी हैं। जहां अचानक दफ्तर में पहुंच फाइलों का वारा-न्यारा कर दे रहे हैं।

लोनिवि में कमीशनखोरी चरम पर

Public Works Department सिंगरौली के दफ्तर में कमीशनखोरी चरम सीमा पर है। बताया जा रहा है की चर्चित कार्यपालन यंत्री के साथ-साथ सहायक यंत्री व उपयंत्री जमकर कमीशनखोरी में लिप्त हैं। लोक निर्माण विभाग में निर्माण कार्यों की गुणवत्ता को लेकर पहले से ही आरोप-प्रत्यारोप लगते आ रहे थे और अब कार्यपालन यंत्री के स्थगन आदेश लाने के बाद इस बात की भी चर्चाएं चल रही हैं की कहीं न कहीं लंबा खेला हो रहा है इसीलिए साहब लोगों का सिंगरौली से मोहभंग नहीं हो रहा है।

Mallika Sherawat shocking revelation: मल्लिका शेरावत का मशहूर एक्टर ने 3 बजे रात खटखटाया था दरवाजा, इरादों को भांप गई और बोली बदचलन कहने वाले हो गए एक्सपोज

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular