Thursday, May 25, 2023
HomeMadhya PradeshSingrauli में डीएमएफ राशि को लूट रहे अधिकारी व ठेकेदार खुटार में...

Singrauli में डीएमएफ राशि को लूट रहे अधिकारी व ठेकेदार खुटार में लाखों रुपए की लागत से बनी नाली की बानिगी देख हो जाएंगे दंग

- Advertisement -

Singrauli news: ग्रामीणों ने कलेक्टर(collector) से जांच की उठाई मांग,संविदाकार को ब्लैकलिस्टेड (blacklisted) करने की कही बात

Singrauli: जिले के जनपद पंचायत बैढऩ अंतर्गत ग्राम पंचायत खुटार(gram panchayat khutar) में खनिज प्रतिष्ठान मद(mad) से लगभग 79 लाख रुपए की लागत से नाली का निर्माण कार्य कराया गया है। उक्त नाली निर्माण की बानिगी (baanigi) को देखकर हर कोई दंग रह जाएगा। आखिर किस इंजीनियर(engineer) ने  नाली का ले आऊट,डीपीआर (dpr) व मूल्यांकन किया है इस पर सवाल खड़े हो रहे  है

- Advertisement -

बताया जा रहा है कि नाली निर्माण के समय ही ग्रामीणों ने नाली की गुणवत्ता पर सवाल खड़े किए थे। लेकिन आरईएस विभाग (res department) के इंजीनियर और एसडीओ ग्रामीणों की शिकायत को न केवल नजरअंदाज किए बल्कि उनके विरोध को गलत ठहराते हुए मानकविहिन नाली का निर्माण करा दिया। हालत यह है कि नाली बने हुए महीना भर नही बिता की भर भराकर उसका मटेरियल गिरने लगा। बताया जाता है कि खुटार बाजार होते हुए लगभग 2 किमी की लंबाई में नाली का निर्माण कार्य ठेकेदार गेंदलाल शाह के द्वारा गुणवत्ताविहिन कराया गया है. Singrauli

जहां नाली के ऊपर की ढलाई इतनी घटिया है कि अब वह उखडऩे लगी है। नाली का ढक्कर कै्रक होकर टूटने लगा है। वहीं दिवार भी भरभराकर गिर रही है। ऐसे में इंसान के साथ-साथ मवेशियों के गिरने की संभावना बढ़ गई है। यदि समय रहते इस नाली को दुरूस्त नही किया गया तो कोई बड़ा हादसा हो सकता है।


राखड़ व नाममात्र के सीमेंट से बना दी नाली


खुटार क्षेत्र में नाली निर्माण में मिट्टी युक्त रेत व राखड़ का उपयोग किया गया है। इस नाली निर्माण में  ठेकेदार के द्वारा नाम मात्र के लिए सीमेंट डाली गई है। वहीं नाली निर्माण के बाद इसकी तराई बामुश्किल एक से दो बार ही की गई जिसके चलते नाली की मजबूती कमजोर पड़ गई है। और वह भर भराकर गिर रही है. Singrauli


ठेकेदार व आरईएस ने बनायी भ्रष्ट्राचार की नाली


यूं तो नाली का निर्माण क्षेत्र के लोगों के जनजीवन को सुगम बनाने के लिए कराया जाता है लेकिन खुटार क्षेत्र में बनाई गई नाली भ्रष्टाचार के लिए बनाई गई है। इस नाली निर्माण में ठेकेदार और आरईएस के इंजीनियर और एसडीओ ने ग्रामीणों की सोच पर पानी फेरते हुए इस नाली में इतना भ्रष्टाचार किया कि अब नाली अधिकारियों की खुद ही पोल खोल रही है। हलाकि नाली की दुर्दशा को देख अब ठेकेदार व आरईएस के अधिकारियों की भी संासे अटक गई है। उन्हें भी डर सताने लगा है कि कहीं उनके जी का जंजाल न बन जाए. Singrauli


कलेक्टर से ठेकेदार को ब्लैकलिस्ट करने की उठ रही मांग


नई नाली के भ्रष्टाचार की जानकारी अब ग्रामीणों ने कलेक्टर तक पहुंचा दी है। कलेक्टर ने ग्रामीणों को आश्वत किया है कि नाली निर्माण की न केवल जांच कराएंगे बल्कि जिम्मेदार ठेकेदार व विभाग के जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाही की जाएगी। उन्होने यह भी कहा कि यदि ठेकेदार की लापरवाही साबित होती है तो उसे ब्लैकलिस्ट भी किया जाएगी।

ग्रामीणो ने आरोप लगाया है कि चंद दिनो पहले बनी नाली में दरारें पड़ गई हैं तो वहीं नाली के ऊपर का ढक्कन भी टूटने लगा है। नाली  के ऊपर ढक्कन नही होने से आम लोगों सहित जानवरों के भी गिरने की संभावना बढ़ गई है। यदि जल्द नाली को दुरूस्त नही किया गया तो किसी दिन कोर्ई बड़ा हादसा हो सकता है। वहीं यदि जिम्मेदारों पर किसी भी तरह की कार्रवाही नही की गई तो आगे ग्रामीणों आंदोलन के लिए बाध्य होंगे. Singrauli

यह भी पढ़े — Singrauli news: मॉडल कॉलेज के लिए 67 पद स्वीकृत, जल्द शुरू होगी नियुक्ति,शासन स्तर से सिंगरौली सहित 7 जिले के लिए आदेश जारी

यह भी पढ़े — Singrauli news: सीएम राइज स्कूल का सिर्फ नाम बदला  व्यवस्थाएं जस की तस,चकरिया व हिर्रवाह विद्यालय के लिए स्वीकृत हुआ 6 करोड़

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular