Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshVindhyaSingrauli crime news :  अवैध शराब व गांजा का गढ़ बनता जा रहा...

Singrauli crime news :  अवैध शराब व गांजा का गढ़ बनता जा रहा ऊर्जाधानी,आबकारी विभाग बना मूृकदर्शक

- Advertisement -
- Advertisement -

Singrauli crime news : सिंगरौली। जिले में अवैध शराब व गांजा सहित अन्य मादक पदार्थ ने इस कदर पैर पसार लिया है कि समूचा ऊर्जाधानी इसके आगोश में आ चुका है। जबकि इस कारोबार पर लगाम कसने के लिए विधिवत आबकारी विभाग बैठा हुआ है। इसके बावजूद विभाग के जिम्मेदार अधिकारी मूकदर्शक बने हुए है। पुलिस के कार्यवाही पर अपनी पीठ थपथपाते हुए वाहवाही लूटने का प्रयास कर रहे हैं।

गौरतलब हो कि जिले के बैढऩ विकासखण्ड सहित देवसर व चितरंगी क्षेत्र में काफी लंबे अर्से से अवैध शराब की दारु भठ्ठी चल रही है। जिसकी जानकारी विधिवत ग्रामीण जनता के द्वारा आबकारी विभाग के अधिकारियों को दी जाती है। ताकि इस अवैध कारोबार पर लगाम कसा जा सके। इसके बावजूद आबकारी विभाग के अधिकारी कर्मचारी सिर्फ कार्यालय में बैठकर खाना पूर्ति में लगे हुए है।Singrauli crime news

बताया जाता है कि कभी कभार दिखावे के लिए कार्यवाही की जाती है और यह कार्रवाही उसी स्थान पर होती है जहां से इन्हें कमीशन नही मिलता है। अभी पिछले वर्ष ऐसा ही मामला मोरवा रेलवे स्टेशन के समीप देखने को मिला था। जहां भारी हंगामा हुआ और आबकारी विभाग की जमकर किरकिरी हुई थी। इसके बावजूद आबकारी विभाग के अधिकारी व सब  निरीक्षक खानापूर्ति करके वाहवाही लूट रहे हैं।Singrauli crime news

बताया जाता है कि समूचे जिले में अवैध शराब की दुकान चल रही है। यहां तक कि ठेला,गुमटियों व किराना दुकानों में देशी महुआ शराब परोसी जा रही है। आखिर इस विभाग के पास जानकारी नही है या फिर जानबुझकर अनजान बनने का प्रयास कर रहा है। इस अवैध कारोबार पर लगाम कसने में आबकारी विभाग के अधिकारी उदासीन बने हुए है।

गांजा व शराब किराना दुकानों में

सूत्र बताते हैं कि जिले के शहरी हो या ग्रामीण हर जगह पैकारी चल रही है। गांव-गांव शराब बनाने का कारोबार चल रहा है और यह कारोबारी किराना दुकान चलाने वाले लोगो के पास विक्रय कर रहे हैं। यहां तक कि किराना दुकानो में देशी महुआ शराब व गांजा का विक्रय किया जा रहा है। Singrauli crime news

पुलिस की दिखती है कार्यवाही

पुलिस विभाग भले ही अपने कार्यो में ज्यादा दिलचस्पी न दिखाता हो लेकिन आबकारी विभाग की कार्यवाही खुद कर रहा है। अब तो पुलिस विभाग को लक्ष्य दिया गया कि प्रतिदिन कम से कम चार से पांच आबकारी एक्ट के कार्यवाही करना ही है। तब से पुलिस भी आबकारी की कार्यवाही कर रही है। लेकिन जिस तरह से पुलिस ताबड़तोड़ कार्यवाही कर रही है। उसके हिसाब से आबकारी विभाग की कार्यवाही महज कागजों में भी नही दिखाई दे रही है।  Singrauli crime news

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular