Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshVindhyaSingrauli crime news: अवैध संबंधों के चलते गवानी पड़ी थी अधेड़ को...

Singrauli crime news: अवैध संबंधों के चलते गवानी पड़ी थी अधेड़ को जान , साढू और भतीजे के साथ मिलकर हत्या की रची थी साजिश

- Advertisement -
- Advertisement -

Singrauli crime news:अवैध संबंध के कारण संखलाल की हुई थी हत्या,हत्या में शामिल तीनो आरोपी गिरफ्तार, सिधार के जंगल में मिले शव का मोरवा पुलिस ने किया खुलासा

Singrauli crime news: सिंगरौली 17 नवम्बर। 16 नवंबर को ग्राम सिधार के जंगल में मिले शव का खुलासा करते हुए मोरवा थाना प्रभारी यूपी सिंह ने हत्या में शामिल तीनों आरोपियों को 24 घंटे के अन्दर गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर दिया। बताया गया है कि अवैध संबंध के कारण संखलाल खैरवार की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी की पत्नी से मृतक के अवैध संबंध थे उसी को लेकर मृतक अपने साडू और भतीजे के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया और शव ले जाकर जंगल में फेंक दिया था.


जानकारी के अनुसार एक सप्ताह से गायब संखलाल खैरवार का शव बुधवार को सिधार के जंगल में मिलने पर पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र कुमार सिंह के दिशा निर्देश एवं एएसपी शिव कुमार वर्मा एवं एसडीओपी राजीव पाठक के मार्गदर्शन में मोरवा थाना प्रभारी यूपी सिंह बल के साथ मौके के मुआयना कर संदेही रामकुमार उर्फ अन्ने पनिका निवासी सिधार तेन्दुहवा टोला की पता तलाश ग्राम सिधार एवं आस-पास के जंगल में की गई। विवेचना के दौरान मुखविर से सूचना प्राप्त हुई कि तेन्दुहवा टोला सिधार का रामकुमार उर्फ अन्ने उसके साथ हरिमंगल उर्फ मगरू पनिका और रामकृत उर्फ रामप्रीत के साथ जंगल तरफ एकांत में जा रहे थे की सूचना पर सवाल सिंह खैरवार, तेजू प्रसाद साकेत की मदद से घेराबंदी कर पकड़कर अभिरक्षा में लेकर घटना के संबंध में पूछताछ किया जो जुर्म स्वीकार किया।

आरोपियों को पुलिस अभिरक्षा में लेकर प्राथमिक स्कूल तेन्दुहवा टोला में साक्षी सवाल सिंह पिता चतुर्गुण खैरवार उम्र 32 वर्ष निवासी सिधार तेन्दुहवा टोला थाना मोरवा एवं तेजू प्रसाद साकेत पिता लालजी साकेत उम्र 37 वर्ष निवासी सिधार थाना मोरवा जिला सिंगरौली के समक्ष संदेही राम कुमार उर्फ अन्ने पनिका पिता रघुराई पनिका उम्र 40 वर्ष निवासी सिधार सेन्दुवा टोला थाना मोरवा ने बताया कि उसका विवाह कौशिल्या के साथ हुई थी. दो तीन साल से उसकी पत्नी नाराज होकर अपने मायके रहने लगी थी तथा संखलाल के साथ लुक-छिपकर मिलकर गलत काम करती थी. उसी बजह से उसे छोड़ रखी थी तथा संखलाल से मिलती जुलती थी जिसकी पूर्व में पंचायत बैठाकर समझौता किया था फिर भी संखलाल उसकी पत्नी कौशिल्या से अवैध संबंध रखता था।


आरोपियों ने लाठी,डण्डे से किया था हमला
पुलिस के अनुसार 11 नवंबर की रात्रि में संखलाल अपनी खलिहान के पास गया उसी समय नर्सरी तरफ से बच्चे के रोने की आवाज आ रही थी। तब अपने खलिहान से अपने साढू भाई रामकृत पनिका के घर गया, वहां पर साढू भाई व हरिमंगल मिले उनको बताया कि नर्सरी तरफ किसी बच्चे के रोने की आवाज आ रही है चलो देखते हैं तब तीनों टार्च लेकर टेउना पहाड़ी के पास गये टार्च जलाकर देखा तो संखलाल खैरवार उसकी पत्नी कौशिल्या के साथ लेटा था वहीं पर उसका बच्चा भी था टार्च की रोशनी देखकर पत्नी बच्चे को लेकर चली गई।

संखलाल के पास पहुंचा तो संखलाल पत्थर उठाने लगा उसी समय हाथ में लिये बांस का डंडा संखलाल को जान से मारने के लिये उसके दाहिने तरफ कनपटी के पास मारा उसका सर फट गया खून निकलने तब संखलाल के ऊपर डंडे से गले में दबा दिया। जिससे संखलाल की मृत्यु हो गई। तब तीनों लोग मिलकर संखलाल की लाश को ध्रवहापार जठ्ठाटोला जंगल में फेंक कर अपने-अपने घर चले गये। पुलिस ने हत्या में शामिल तीनो आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से मारपीट करने वाले डंडा को बरामद कर लिया है।


24 घण्टे के अंदर अंधी हत्या की गुत्थी सुलझी
घटना के बाद अंधी हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुटी मोरवा पुलिस ने 24 घण्टे के अंदर ही मामले का खुलासा करने में सफलता हासिल की है। गौरतलब हो कि संखलाल खैरवार की लाठी व डण्डे से पीट-पीटकर सीमावर्ती यूपी के जटोला जंगल में ठिकाने लगाते हुए फेंक दिये थे। शातिर अपराधियों ने बड़े ही शातिराना अंदाज से शव को ठिकाने लगाये थे। किन्तु घटना की सूचना के बाद पुलिस सक्रिय हुई और आरोपियों तक पहुंचने में सफल हो गयी। एसडीओपी राजीव पाठक एवं टीआई यूपी सिंह के साथ-साथ उप निरीक्षक सुधाकर सिंह परिहार ने सूचना के 24 घण्टे के अंदर अंधी

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular