Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshVindhyaSingrauli कलेक्टर ने NH-39 का किया निरीक्षण,बोलें मशीन बढ़ाओ और कार्य में...

Singrauli कलेक्टर ने NH-39 का किया निरीक्षण,बोलें मशीन बढ़ाओ और कार्य में तेजी लाओ , बरना टर्मिनेशन के लिए तैयारी करो!

- Advertisement -
- Advertisement -



सिंगरौली 13 नवम्बर। निर्माणाधीन सीधी-सिंगरौली एनएच-39 फोरलेन का नवागत कलेक्टर अरूण कुमार परमार ने अवलोकन करते हुए कार्यों के प्रगति का जायजा लेते हुए संबंधित विभाग के अमले एवं संविदाकार को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि मशीन बढ़ाओ और कार्य में तेजी लाओ। कार्य के प्रति सुस्तीपन बर्दास्त नहीं की जावेगी। प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो कलेक्टर ने साफ तौर पर कहा है कि लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी समय सीमा का ध्यान रखा जाए नहीं तो टर्मिनेशन की तैयारी कर ले.

जानकारी के मुताबिक रविवार को कलेक्टर अरूण कुमार ने सबसे पहले अंतर्राज्यीय सीमा खनहना बैरियर पहुंच वहां के कार्यों की प्रगति का जायजा लेते हुए निर्माणाधीन चटका पुल एवं सिंगरौली, मोरवा सड़क का कार्य देखते हुए बरगवां पहुंचे। जहां प्रस्तावित रेलवे ओव्हरब्रिज का स्थल देखते हुए संबंधित रेलवे कर्मचारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। तत्पश्चात कलेक्टर ने बरगवां-देवसर के मध्य स्थित सजहर जंगल पहुंच घाटी के निर्माण कार्य का जायजा लेते हुए एमपीआरडीसी के अमला समीर गोहर एवं संविदाकार के स्टाफ को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि जल्द से जल्द सजहर जंगल का कार्य पूर्ण कर आवागमन बहाल कराईये। साथ ही कार्य में तेजी लाने के निर्देश देते हुए मशीनों की संख्या बढ़ाने के लिए कहा है।

इस दौरान कलेक्टर ने कहा कि कार्य की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान रखें। यदि गड़बड़ी मिली तो बक्सा नहीं जायेगा। दरअसल nh39 के कारण सीधी सिंगरौली सांसद रीति पाठक को सिंगरौली में कई बार विरोध का सामना करना पड़ा. वहीं विपक्ष इस पूरे मामले को लेकर बार-बार भाजपा सरकार को घेर रही है यही वजह है कि अब नए कलेक्टर पर nh39 बनवाने का ऊपर से भारी दबाव है यही वजह है कि कलेक्टर जॉइनिंग के मात्र तीसरे दिन nh39 का मुआयना करने पहुंच गए।


दो महीने से बंद है सजहर जंगल का आवागमन
नेशनल हाईवे-39 सीधी-सिंगरौली फोरलेन मार्ग सजहर जंगल के समीप तकरीबन दो महीने पहले धसक जाने की वजह से आवागमन पूरी तरह से अवरूद्ध है। इसके बावजूद भी एमपीआरडीसी के क्षेत्रीय अधिकारी समीर गौहर एवं संविदाकार के द्वारा कार्य को कछुए की गति से कराया जा रहा है। जबकि कई बार क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों सहित कलेक्टर ने कार्य में तेजी लाये जाने की बात कह चुके हैं।

इसके बावजूद भी एमपीआरडीसी के अधिकारी व संविदाकार मनमानी पर उतारू हैं। जिसका खामियाजा सड़क बंद होने की वजह से आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। सूत्रों की मानें तो संविदाकार के द्वारा जिस गति से कार्य किया जा रहा है उस हिसाब से तकरीबन छ: महीने का समय लग सकता है।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular