Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshMp news: दहेज मामले को निपटाने एसडीओपी का रीडर ले रहा था...

Mp news: दहेज मामले को निपटाने एसडीओपी का रीडर ले रहा था 65000 की रिश्वत, पकड़ाया

- Advertisement -
- Advertisement -

by sanjay shah

Mp news: मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में लोकायुक्त की टीम ने एसडीओपी कार्यालय (sdop office) में पदस्थापित 65,000 रुपये की रिश्वत लेते हुए पाठक को रंगेहाथ पकड़ा. एसडीओपी पाठक (sdop pathak) ने दहेज मामले को निपटाने के लिए रिश्वत की मांग की थी.

Mp news: दहेज मामले को सुलझाने के लिए रिश्वत लेते नरसिंहपुर एसडीओपी पाठक(sdop pathak) लोकायुक्त की टीम एएनएन
(एसडीओपी पाठक रिश्वत ले रहे थे, लोकायुक्त की टीम ने पकड़ा)

जबलपुर : मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में दहेज मामले के निपटारे के नाम पर एसडीओपी कार्यालय (sdop office) में तैनात एक पाठक से 65 हजार रुपये की रिश्वत की मांग की गयी. जबलपुर लोकायुक्त की टीम ने उसे 30 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए पकड़ा। घूसखोरी की इस घटना(ghatana) की जानकारी होते ही एसडीओपी कार्यालय (sdop office) में कोहराम मच गया. Mp news

लोकायुक्त एसपी संजय साहू के मुताबिक 10 नवंबर को मगरधा जिले के नरसिंहपुर गांव निवासी मेर सिंह ने जबलपुर स्थित लोकायुक्त कार्यालय में लिखित शिकायत की. जहां याचिकाकर्ता के अनुसार उनकी बहू पुष्पा लौरिया बीमार रहती थी। याचिकाकर्ता की बहू की बीमारी के दौरान मौत हो गई। अपनी मृत्यु से पहले याचिकाकर्ता की बेटी के दामाद ने एसडीओपी कार्यालय, गाडरवारा जिला नरसिंहपुर में दहेज उत्पीड़न की शिकायत की थी. Mp news

उसने मामले को निपटाने के लिए 65 हजार टका की रिश्वत मांगी
एसडीओपी कार्यालय गडरवारा में शिकायत की जांच की जा रही है। शिकायत की जांच के दौरान याचिकाकर्ता मेर सिंह को एसडीओपी कार्यालय बुलाया गया। एसडीओपी कार्यालय में पदस्थ एसडीओपी पाठक संजय दीक्षित ने मामले को निपटाने के लिए 65 हजार रुपये की रिश्वत मांगी।

लोकायुक्त को पार्टी ने पकड़ा
शिकायत के आधार पर लोकायुक्त टीम ने बुधवार 23 नवंबर को जाल बिछाया। लोकायुक्त ने शिकायतकर्ता से रिश्वत के पैसे लेकर एसडीओपी कार्यालय भेज दिया। पाठक संजय दीक्षित को 30,000 रुपये की रिश्वत देते ही लोकायुक्त टीम ने रंगेहाथ पकड़ लिया। इसके बाद एसडीओपी कार्यालय गडरवारा में सनसनी फैल गई. Mp news

इससे पहले भी रिश्वतखोरी की घटना सामने आ चुकी थी.
इससे पहले इंदौर लोकायुक्त पुलिस ने श्रम निरीक्षक को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था. लोकायुक्त डीएसपी प्रवीण सिंह बघेल ने कहा कि श्रम विभाग के श्रम निरीक्षक ने शिकायतकर्ता से रिश्वत की मांग की. शिकायतकर्ता शिवानी शर्मा की कुंकी एवेन्यू अंजनी नगर में तिरुपति हर्ब्स की फर्म थी. Mp news

यह भी पढ़े — Jabalpur News : हॉस्टल से 4 बच्चे हुए लापता, CCTV कैमरे में जाते दिखे बच्चें,पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू की तलाश

यह भी पढ़े — Mp News: ग्वालियर में बीजेपी पार्षद की हत्या,दोस्त ने पीट-पीटकर कर दी हत्या, परिजनों ने किया सड़क जाम

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular