Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshMP News : बैतूल में गोबर के दीयों से जगमग होगी दिवाली:चायनीज...

MP News : बैतूल में गोबर के दीयों से जगमग होगी दिवाली:चायनीज लैंप पीछे छोड़ रहीं देसी दीए

- Advertisement -
- Advertisement -

MP News Diwali will be lit with cow dung lamps in Betul indigenous lamps leaving behind Chinese lamps

MP News : बैतूल की त्रिवेणी गौशाला में देशी गाय के गोबर से दिये तैयार किये गए है । महिला स्व सहायता समूह की महिलाएं दीपावली पर घरो को रौशन करने के लिए गोबर से बने दीपक बाजार में उतार रही है । महिलाएं यहां दीपक,मुर्तिया, मंगलकारी धार्मिक चिन्ह के निर्माण गोबर से कर रही है। आत्मनिर्भर भारत की तस्वीर पेश करती महिलाएं बैतूल के पास त्रिवेणी गौशाला में गोबर से बनने वाले उत्पात बनाने में जुटी हुई है।

MP News : राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत बनाये गए स्व सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं यहां गोबर के दीपक तैयार किये है । इसके अलावा गोबर से ही धूप बत्ती ,गणेश और लक्ष्मी की प्रतिमाएं,शुभ लाभ और स्वास्तिक की आकृतिया बनाई गई है ।

बैतूल जिले में कार्य करहे स्व सहायता  समूह की महिलाओं ने 30 हजार गोबर के दिये बनाये है । 3 किलो गोबर, एक किलो मिट्टी और इतने ही प्रीमिक्स के मिश्रण से सौ दीपक तैयार किये जाते है । गोबर से तैयार यह दीपक बाजार में चालीस रुपये में एक दर्जन मिलते है । 

बैतूल जिले में कार्य करहे स्व सहायता  समूह की महिलाओं ने 30 हजार गोबर के दिये बनाये है । 3 किलो गोबर, एक किलो मिट्टी और इतने ही प्रीमिक्स के मिश्रण से सौ दीपक तैयार किये जाते है । गोबर से तैयार यह दीपक बाजार में चालीस रुपये में एक दर्जन मिलते है । 

 MP News : बैतूल में गोबर के दीयों से जगमग होगी दिवाली:चायनीज लैंप पीछे छोड़ रहीं देसी दीए
Photo by google

इन दियो को बेचने के बाद पूरी रकम इन्ही महिलाओ को दे दी जाएगी। जिला पंचायत बैतूल भी इन महिलाओं को स्वावलंबन की दिशा में ले जाने पूरे प्रयास कर रहा है। आत्मनिर्भर भारत की सच्ची तस्वीर पेश करती महिलाओ के इस कार्य से साफ हो गया है कि गोबर सिर्फ कंडे या उपले और खेतों की खाद बनाने के काम ही नही आता। इसके और भी उपयोग हो सकते है।

इनका कहना है. MP News

पूनम का कहना है कि महिलाएं 3 महीने पहले से दीए बनाने की तैयारी शुरू करते हैं बहुत जगह से आर्डर आते हैं इसलिए समय पर दिए तैयार करने पड़ते हैं)

बाईट-कमला बारस्कर (सदस्य स्व सहायता समूह)(कमला का कहना है कि लोग बहुत पसंद कर रहे हैं गोबर के लिए एक बहुत ही कलरफुल है. गोबर के दीए बनाने से बेरोजगार महिलाओं को भी रोजगार मिलता है बैतूल के बाहर भी दिए भेजे जाते हैं.MP News

पुष्पलता सरले- सदस्य स्व सहायता समूह

इनका कहना है 

 MP News : बैतूल में गोबर के दीयों से जगमग होगी दिवाली:चायनीज लैंप पीछे छोड़ रहीं देसी दीए
Photo by google

चाइनीज दियो की तुलना में गोबर के दिए बहुत अच्छे होते हैं और हर साल हम लोग घर ले जाते हैं दीपावली पर गोवर्धन का बहुत महत्व है दिए के माध्यम से घर में गोबर पहुंच जाता है. MP News

जलज पांडे – ग्राहक 

यह भी पढ़े — Porn star सनी लियोन को आज भी बॉलीवुड में नहीं मिलती इज्जत , पति पति डेनियल भी कहने से पीछे..

यह भी पढ़े — Aishwarya Rai Bachchan Affair:शादी से पहले ऐश्वर्या राय का इन अभिनेताओं से था संबंध, सलमान के प्यार में पागल थी विश्व सुंदरी

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular