Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshMP : कर्ज में दबी शिवराज सरकार ने फिर लिया 1 हजार...

MP : कर्ज में दबी शिवराज सरकार ने फिर लिया 1 हजार करोड़ रुपये का लोन, खैरात बांटने में होगा खर्च !

- Advertisement -
- Advertisement -

MP Debt-ridden Shivraj government again took a loan of Rs 1 thousand crore, it will be spent in distributing the bailout!

MP Bhopal News: शिवराज सरकार इस साल अब तक 8000 करोड़ रुपये का कर्ज ले चुकी है। अभी लिया गया कर्ज पंद्रह साल के लिए है। सरकार के पास 40,000 करोड़ रुपये से अधिक की उधार लेने की क्षमता है.

MP : भोपाल समाचार: मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की सरकार कर्ज के बोझ तले दबी है। पहले से ही 3 लाख करोड़ रुपये के कर्ज के बोझ तले दबी शिवराज सरकार ने एक बार फिर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के जरिए 1000 करोड़ रुपये का कर्ज लिया है.

यह कर्ज 15 साल के लिए लिया जाता है। मध्य प्रदेश सरकार इस साल अब तक 8,000 करोड़ रुपये का कर्ज ले चुकी है। मध्य प्रदेश सरकार के अब तक के 3 लाख करोड़ रुपये के कर्ज में राष्ट्रीय बचत योजना के तहत 3756 करोड़ रुपये शामिल हैं। 31 मार्च 2022 तक सरकार पर कुल 3 लाख 3 हजार करोड़ रुपये का कर्ज है. MP

…तो श्रीलंका के जैसे होंगे राज्य के हालात

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रही है. इससे उबरने के लिए शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने एक बार फिर कर्ज लिया है। यह ऋण वित्त विभाग की अधिसूचना के अनुसार विकास परियोजनाओं के लिए लिया गया है. MP

सरकार की उधार लेने की क्षमता 40,000 करोड़ रुपये से अधिक है

राज्य सरकारें राजकोषीय उत्तरदायित्व और बजट प्रबंधन अधिनियम के तहत राज्य के सकल घरेलू उत्पाद का 4% तक उधार ले सकती हैं. MP

हालांकि सरकार के पास 40 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा उधार लेने की क्षमता है, लेकिन सरकार ने अभी तक सिर्फ 8 हजार करोड़ रुपये का ही कर्ज लिया है. राज्य सरकार द्वारा लिए गए ऋण का उपयोग आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने और विकास परियोजनाओं को गति देने के लिए किया जाएगा. MP

यह भी पढ़े — CM सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, दिवाली पर स्थानीय अवकाश की घोषणा, बंद रहेंगे कार्यालय, इतने दिन मिलेगा आराम 

यह भी पढ़े — MP: बिजली विभाग के कर्मचारियों को तोहफा, बढ़ कर मिलेगा लाभ, मिलेगी 10000 सैलरी

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular