Friday, March 1, 2024
HomeMadhya PradeshVindhyaSingrauli news: बाजार बैठकी वसूली को लेकर विधायक बोलें - केजरीवाल के...

Singrauli news: बाजार बैठकी वसूली को लेकर विधायक बोलें – केजरीवाल के तर्ज पर महापौर भी जनता से बोल रही झूठ

- Advertisement -
- Advertisement -

सिंगरौली भाजपा विधायक राम लल्लू वैश्य और नगर पालिक निगम सिंगरौली के अध्यक्ष देवेश पांडे ने बाजार बैठकी वसूली को लेकर आम आदमी पार्टी की महापौर रानी अग्रवाल पर गंभीर आरोप लगाए हैं. प्रेस वार्ता कर उन्होंने कहा कि महापौर रानी अग्रवाल ने वार्ड के 45 बार दो के विकास को रोक दिया है यह जनता को गुमराह कर रहे हैं और विधानसभा की तैयारी कर रही हैं.



सिंगरौली 26 दिसम्बर। नगर निगम परिषद् की बैठक में बाजार बैठकी माफी का एजेण्डा न शामिल किये जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है।विधायक रामलल्लू बैस ने इस मुद्दे को लेकर आम आदमी पार्टी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल एवं ननि मेयर रानी अग्रवाल पर निशाना साधते हुए कहा है कि ननि के चुनावी घोषणा में आप ने जनता को लॉलीपाप देकर गुमराह किया। वहीं मेयर रानी अग्रवाल ने इसके लिए सभी दलों को एक साथ आकर सहयोग देने की बात कर रही हैं। ननि में कल मंगलवार को होने वाली परिषद् की बैठक को लेकर आज सोमवार से ही पारा चढ़ा हुआ है।

ऊर्जाधानी में भले ही शीतलहर का टार्चर एवं गलनभरी ठण्ड हो, लेकिन नगर निगम में इन दिनों शीतलहर का प्रकोप कम दिख रहा है। बल्कि बाजार बैठकी माफी के मुद्दे को लेकर सत्ता एवं विपक्ष में गर्माहट है। इस मुद्दे पर विधायक रामलल्लू बैस का कहना है कि 1956 से प्रदेश सरकार के बनाये हुए नियम को कैसे तोड़ा जा सकता है। दिल्ली मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और मेयर रानी अग्रवाल ने चुनाव के वक्त यहां की जनता को लॉलीपाप भरी घोषणाएं करते हुए जीत हासिल कर ली। लेकिन अब उसे पूरा करने के समय मेयर भाजपा एवं प्रदेश सरकार पर आरोप लगा रही हैं। यदि इतना ही बाजार बैठकी को लेकर मेयर को चिंता है तो निगम बैठकी का टैक्स मेयर खुद भर दें तो बैठकी वसूली माफ हो जायेगी।

इधर रानी अग्रवाल ने भी विधायक के बातों का कटाक्ष करते हुए कहा है कि हमारा उद्देश्य नगर विकास को रोकना नहीं बल्कि नगर निगम के द्वारा हो रही बाजार बैठकी वसूली को बंद कराना है। क्योंकि यह एक सार्वजनिक और लोगों के हित का मुद्दा है। इसमें सभी पार्टियों के जनप्रतिनिधियों को एक साथ समर्थन देते हुए इस पर पहल करनी चाहिए। साथ ही विधायक के चुनावी घोषणा के सवाल पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि क्या भाजपा सहित अन्य राजनैतिक दल के नेता जो चुनावी घोषणा करते हैं उसे पूरा करने के लिए अपने जेब से पैसे देते हैं यदि नहीं तो घोषणाओं को पूरा करने के लिए अन्य पार्टी के जनप्रतिनिधि, मंत्री पैसा दें तो हम भी देने के लिए तैयार हैं। फिलहाल उक्त मामले को लेकर इन दिनों नगर निगम में राजनीति काफी गर्मा गयी है। कल मंगलवार को आम आदमी पार्टी ने ननि के सामने धरना देकर बैठक का बहिष्कार करने का मन बनाया है।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular