Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshKatni News :बर्थडे मनाने के दौरान 5 दोस्तों की नदी में बनी...

Katni News :बर्थडे मनाने के दौरान 5 दोस्तों की नदी में बनी जल समाधि , साथ हुई अंत्येष्टि

- Advertisement -
- Advertisement -

मप्र में नदी के घाट पर बर्थडे मनाने गए 5 बच्चों की डूबने से दर्दनाक मौत हो गई। घटना की खबर मिलते ही गांव में मातम छा गया। मौके पर पहुंची SDRF की टीम ने रातभर नदी में रेस्क्यू किया , तब जाकर पांचों के शव मिले। पांचों का अंतिम संस्कार एक साथ किया गया। जिसने भी यह मंजर देखा उसकी आंखें नम हो गई।

कटनी – जिले का देवराखुर्द गांव में दोपहर के तीन बजे नदी में नहाते समय 5 बच्चों ने जल समाधि ले ली. सोमवार को सभी दोस्त अपने एक दोस्त का जन्मदिन मनाने कटनी नदी घाट पर गए हुए थे जहां जब एक बच्चन नहाने के दौरान नदी में डूब रहा था तो उसे बचाने के चक्कर में एक के बाद एक सभी दोस्त डूबते चले गए इनमें एक 13 साल वाले चार 15 साल के थे यह खबर जब गांव पहुंची तो पूरे गांव में मातम छा गया तो वहीं पूरे परिवार का रो रो कर बुरा हाल है.

बता दें कि इस घटना को सुनकर लोगों का दर्द से कलेजा कांप गया एक झटके में 5 घरों की खुशियां खत्म हो गई. गांव में रहने वाले आयुष पिता कमलेश विश्वकर्मा (13) का जन्मदिन सोमवार को था। वो अपने दोस्त महपाल सिंह पिता ब्रजमोहन सिंह (15), साहिल पिता शिवचरण चक्रवर्ती (15), सूर्या पिता सोने लाल विश्वकर्मा (15) और अनुज पिता मनोज सोनी (13) के साथ जन्मदिन की पार्टी मनाने कटनी नदी घाट पर गया था। चारों बच्चे जब नहीं लौटे तो गांव वालों ने खोजबीन शुरू की। घटना की जानकारी लगते ही कलेक्टर व एसपी मौके पर पहुंचे और आते 11:00 बजे पहले बच्चे का शव मिला.

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जब परिजन सहित ग्रामीण नदी के करीब पहुंचे तो नदी किनारे सिर्फ बच्चों के कपड़े और चप्पल-जूते मिले। जहां ग्रामीणों ने घटना की सूचना प्रशासन को दी गई। रातभर चले रेस्क्यू ऑपरेशन में SDRF टीम ने तीन बच्चों के शव निकाले। दो बच्चों के शव मंगलवार सुबह मिले। बताया जा रहा है कि पांचों बच्चे तैरना नहीं जानते थे। बच्चों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया इसके बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। शॉर्ट पीएम में फेफड़ों में पानी भरने की बात सामने आई।

पोस्टमार्टम के बाद जब शव को गांव के मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया तो करीब पूरा गांव ही बच्चों को अंतिम विदाई देने पहुंच गया। सभी की आंखें नम हो गए थे. हर चेहरे पर दर्द के भाव आते-जाते रहे। गांव के एक शख्स ने बताया कि सभी बच्चे स्कूल के लिए घर से निकले थे लेकिन स्कूल जाने के बजाय वह पिकनिक मनाने नदी में चले गए और नहाने के दौरान एक के बाद एक 5 बच्चे नदी में डूब गए फिलहाल घटना के बाद अब सरकार ने सभी पीड़ित परिवारों को ₹400000 की आर्थिक सहायता देने की बात कही है गांव की एक बुजुर्ग ने कहा है कि सरकार की इस सहानुभूति और मदद से परिवार को संबल जरूर मिलता है लेकिन दीपावली से पहले 5 परिवारों की दीपक बुझ जाने से अब परिवार पूरी तरह से टूट गया है अब इन परिवारों को किसी सहारे से नहीं भरी जा सकती.

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular