Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshVindhyaSingrauli में शराब की नई नीति का नहीं हो रहा पालन,अब तक...

Singrauli में शराब की नई नीति का नहीं हो रहा पालन,अब तक नहीं लगी रेट लिस्ट ,आबकारी अधिकारी बेखबर,

- Advertisement -

Singrauli: सिंगरौली 10 नवम्बर। सीएम शिवराज सिंह चौहान(Shivraj Singh Chauhan) ने भले ही  नई शराब नीति(Alcohol policy) लागू कर दी हो, लेकिन सिंगरौली शहर(Singrauli city) की शराब दुकानें उसका ठीक से पालन नहीं कर रहीं हैं। नियमों की अनदेखी कर दुकानों पर साइन बोर्ड(Sign board) के साथ बड़े बोर्ड से शराब का विज्ञापन (advertis ement) हो रहा है। शराब का इस तरह प्रचार करने को आबकारी अधिकारी(Excise Officer) गंभीरता से नहीं ले रहें है। आबकारी नीति(Excise policy) 2022-2023 के तहत शराब दुकानें(liquor sto res) संचालित नहीं हो रही हैं।

- Advertisement -

भले ही आबकारी आयुक्त ने जिले के आबकारी अधिकारियों को पत्र लिखकर प्रचार को शराब नीति का नियमों का उल्लंघन बताते हुए इसे हटाने को कहा है। लेकिन सिंगरौली जिले में शराब बेचने का अधिकार लेने के बाद न केवल महंगे दामों में शराब बेच रहे हैं, बल्कि शराब ठेके में कई दुकानों को लग्जरी रूप दिया गया है। बड़े-बड़े बोर्ड लगाए हैं। प्रशासन आपत्ति न ले, इसलिए दूसरे प्रोडक्ट का नाम नीचे छोटे शब्दों में लिखा जाता है। आबकारी विभाग के पास कार्रवाई का अधिकार है, लेकिन वे भी अपनी मौन स्वीकृति देते हैं. Singrauli

नई शराब नीति के कई बिंदु नजरअंदाज  

बताया जाता है कि नई शराब नीति के बिंदु क्र.28 में इस बात का जिक्र भी है कि मदिरा के फुटकर बिक्री की दुकान के लाइसेंसी दुकान पर अधिक से अधिक 10 फीट लंबे, 4 फीट चौड़े और ऊंचे आकार का साइन बोर्ड लगा सकते हैं, जिस पर हिन्दी, अंग्रेजी में मोटे अक्षर में केवल मदिरा दुकान का प्रकार, उसकी स्थिति, लाइसेंस क्रमांक, अवधि और लाइसेंसी का नाम अंकित होने चाहिए। बोर्ड पर मदिरापान स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है अंकित करना होगा। साइन बोर्ड के आस-पास मदिरा विज्ञापन संबंधी कोई दूसरा पोस्टर अथवा प्रचार सामाग्री चस्पा, वर्णित नहीं होगी। प्रत्येक मदिरा दुकान पर मदिरा की रेट लिस्ट लगाई जाएगी. Singrauli

जिले के अधिकांश दुकानों पर प्रचार सामग्री

सूत्रों की बात मानें तो जिले के अधिकांश शराब की हर दुकान पर प्रचार प्रसार के लिए बड़े ग्लासाइन बोर्ड लगाए गए हैं। जबकि यह नियमों के विपरीत है। आबकारी विभाग के अधिकारी इस ओर इसलिए भी नहीं देखते कि उन्हें शिकायत का इंतजार रहता है। कोई शिकायत नहीं करे तो वह स्वयं संज्ञान नहीं लेंगे। कई शराब की दुकानें तो ऐसी हैं, जहां चेतावनी से ज्यादा विज्ञापन के बोर्ड लोगों को आकर्षित करने के लिए लगाए गए हैं. Singrauli

यह भी पढ़े — जन्मदिन की पार्टी पर Ileana Dcruz ने बिकनी में पोस्ट किया वीडियो, हिला दिया पूरा इंटरनेट

यह भी पढ़े — Ananya-Shanaya ने पार्टी में पहनी छोटे कपड़े, इज्जत बचाने में छूटा पसीना

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular