Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshVindhyaजयंत चौकी में अवैध डीजल का फल फूल रहा कारोबार, प्रभारी के...

जयंत चौकी में अवैध डीजल का फल फूल रहा कारोबार, प्रभारी के कारखास शर्मा और यादव कर रहे बसूली ?

- Advertisement -
- Advertisement -

सिंगरौली जिले की नामचीन चौकियों में जयंत का पहला नाम आता है इस चौकी के लिये मुहमागी बोली के दाव खेले जाते है। इस दाव के खेल की जोर अजमाइस में जिसका पलरा भारी होता है उसी को चौकी की जिम्मेदारी सौपी जाती है। वजह जानकार हैरान हो जायेगे कि आखिर बोली लगने की वजह क्या है। क्योंकि यह क्षेत्र डीजल व कोयला का गढ माना जाता है। यही वजह है कि यहा हर कोई अपनी पदस्थापना कराना चाहता है। तभी तो इन दिनो जयंत क्षेत्र में डीजल तस्करी का बड़ा खेल होता दिखाई दें रहा है।

बता दें इस खेल के मास्टर मांइड जयंत चौकी में पदस्थ दो लोगो का नाम अवैध डीजल कारोबार को बढावा देने मेंं सामने आ रहा है। आखिर जयंत में शर्मा और यादव की चहुओर चर्चा क्यो हो रही है। कुछ न कुछ बड़ी वजह मानी जा रही है।जयंत क्षेत्र से जुड़े सूत्र बताते है कि जयंत पुलिस इन दिनो गोरखधंधो पर शिकंजा कसने की वजाय बढावा देने का कार्य कर रही है। जब प्रभारी शुरुआती दिनो में आये थे उस समय ऐसा प्रतीत हुआ की व्यवस्था में चार चांद लग जायेगा और गोरखधंधे पर लगाम लग जायेगी। लेकिन धीरे-धीरे प्रभारी के तेवर भी नरम पड़ते गये अब तो स्थिति बेहद बिगड़ती दिखाई दे रही है।

सबसे बड़ी वजह यह बतायी जा रही है कि प्रभारी दो कारखासो के इशारे पर इन दिनो चल रहे है और इन्ही का भरोसा भी मानते है। लेकिन हकीकत यह है कि इन्ही कारखासो की वजह से कही न कही छवि पर गहरा प्रभाव पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है। सूत्र तो यह भी बताते है कि जयंत चौकी क्षेत्र हमेशा से कोयला व डीजल का सबसे महफूज जगह है। हर गोरखधंधा की शुरुआत जयंत से ही होती है। कोयला व डीजल का अवैध कारोबार यही से पनपता है।

बता दें कि डीजल निकलता है तो चिन्हित स्थानो की बजाय अवैध ठिकानो पर कब पहुच जायेगा कोई नही जानता। यही हाल कोयला का भी है। लेकिन इन सब अवैध कारोबार के जानकारी का लेखा जोखा की विधिवत जानकारी जयंत पुलिस के पास रहती है। लेकिन इस अवैध कारोबार में जिस तरह पुलिस की संलिप्तता सामने आ रही है ऐसे में कही न कही पुलिस कप्तान के दिशा निर्देश पर भी सवाल खड़े हो रहे है। क्योंकि अधिनस्तो पर लगाम कसने में कही न कही हीलाहवाली होती दिखाई दे रही है।

डीजल का मामला आया था सामने
सूत्रो कि बातो गौर करे तो गत दिवस एक मामला जयंत का सामने आया था। जहां डीजल के अवैध कारोबारी को पकडऩे के लिये पुलिस ने जाल बिछाया था। उक्त कारोबारी को पकडऩे के लिये जाल इस लिये बिछाया गया था। वह शरणागत नही हुआ। यही कारण था कि पुलिस ने ऐसा जाल फेका कि डीजल तस्कर पुलिस के चंगुल आखिर फस ही गया। बताया जाता है कि आरोपी के पास से डीजल भी बरामद हुआ था जिसे विधिवत रफा-दफा करते हुये मामले को पूरी तरह निपटा दिया गया। इस मामले को लेकर काफी किरकिरी पुलिस की हुई थी लेकिन पैसे के आगे आज तो कुछ नही है। बताया जाता है इस तरह के मामले आये दिन सामने आते रहते है.

वसूली के मामले पर हो रही किरकिरी
जयंत चौकी क्षेत्र में चल रहे गोरखधंधो पर लगाम कसने के वजाय खुला संरक्षण देने का कार्य किया जा रहा है। कोयला,डीजल सहित जयंत चौकी क्षेत्र में चोरी भी व्यापक तौर पर हो रही है। एक तरफ प्रभारी ईमानदारी का पाठ पढाते है वही दूसरी ओर अपने अधिनस्तो को इस कारोबार को बढाने की भी खुली छुट दे रखे है। सूत्र बताते है जयंत चौकी में दो जवान ऐसे है जिनका एक सूत्रीय काम वसूली का है। इनके नामो की भी बड़ी चर्चा चलती है। ऐसा लगता है इन्ही के कंधे पर जयंत चौकी की कमान है।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular