Saturday, March 2, 2024
HomeJobCM SHIVRAJ: विंध्य के 270296 बेरोजगारों को रोजगार नहीं दे पाए सीएम...

CM SHIVRAJ: विंध्य के 270296 बेरोजगारों को रोजगार नहीं दे पाए सीएम शिवराज, जाने कितने पद हैं रिक्त

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश के रीवा संभाग में बेरोजगार युवाओं को धोखे में रखा है कहने को तो नौकरी देने का वादा कर रहे हैं

- Advertisement -
- Advertisement -

CM SHIVRAJ: रीवा। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान युवाओं के हितेषी होने का दावा करते हैं लेकिन मध्य प्रदेश के रीवा संभाग की स्थिति पर नजर दौड़ाये तो 270296 बेरोजगार युवा रोजगार के लिए भटक रहे हैं ऐसे में सीएम शिवराज के सभी दावे फेल नजर आ रहे हैं।

CM SHIVRAJ: आंकड़े पर नजर दौड़ाई तो 10 वर्ष में रोजगार की स्थिति जो सामने आ रही है उसमें रीवा जिले में 39070 रोजगार की स्थिति दिखाई दे रही है इसी तरह सतना में 23287 है वही सीधी की बात करें तो 9609 रोजगार की संख्या दिखाई दे रही है किधर आंकड़े में जो दर्शाया गया है सिंगरौली में 8904 रोजगार के स्थिति बनी हुई है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश के रीवा संभाग में बेरोजगार युवाओं को धोखे में रखा है कहने को तो नौकरी देने का वादा कर रहे हैं लेकिन जो सरकारी आंकड़े गवाह बन रहे हैं ऐसे में स्थिति पर नजर दौड़ाई तो रीवा संभाग में हर जाति वर्ग में बेरोजगारों की संख्या 270296 दिखाई दे रही है। आंकड़े इस बात की गवाही दे रहे हैं कि रीवा मे 109496, सतना 99465, सीधी 32062, सिंगरौली 29273 युवा बेरोजगार की श्रेणी में दिखाई दे रहा है।CM SHIVRAJ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश के युवाओं के साथ वादा किया था कि हर वर्ष 10000 नौकरी देंगे लेकिन सीएम शिवराज का यह वादा मध्यप्रदेश में दिखाई नहीं दे रहा है बेरोजगारी दर को कम करने के लिए सरकार ने पीपीपी मोड पर प्लेसमेंट सेंटर खोलने की अनुमति दी थी इसके लिए निजी संस्थाओं को कार्यालय एवं अन्य संसाधन उपलब्ध कराए गए थे सेंटर की ओर से वादा किया गया था कि 1 जिले में हर वर्ष कम से कम 10000 युवाओं को नौकरी दी जाएगी लेकिन सरकार का यह वादा मध्य प्रदेश के रीवा संभाग में खेल होता दिखाई दे रहा है।CM SHIVRAJ

बता दें कि बेरोजगारी के मामले में रीवा संभाग मध्य प्रदेश के टॉप फाइव में पहुंच चुका है चौंकाने वाले आंकड़े जो सामने आ रहे हैं इससे यह साफ साबित होता है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश के युवाओं को सिर्फ घोषणाओं में सिमट कर रख दिया है हकीकत देखे तो मध्य प्रदेश में बेरोजगारी काफी तेजी से बढ़ी हुई है स्थिति पर नजर दौड़ा तो समय-समय पर रोजगार मेले का आयोजन किया जाता है जहां पर हजारों की संख्या में बेरोजगार युवा पहुंचते हैं उन्हें नौकरी देने के लिए महाराष्ट्र गुजरात आंध्र प्रदेश तेलंगाना पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली राजस्थान सहित कई अन्य प्रांतों में कंपनियों के द्वारा ले जाया जाता है लेकिन वह कम वेतन में ज्यादा काम लिया जा रहा है ऐसे में कंपनियों के द्वारा उन्हें प्रताड़ित भी किया जाता है यही वजह है कि युवा नौकरी छोड़कर भागने को मजबूर हो जाते हैं।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular