Wednesday, February 1, 2023
HomeMadhya PradeshBig Negligence : बारिश में भीगा हजारों क्विंटल गेंहू और चना, तेज...

Big Negligence : बारिश में भीगा हजारों क्विंटल गेंहू और चना, तेज हवा आंधी ने वेयर हाउस के उड़ाएं परखच्चे, सरकार को करोड़ों का नुकसान

- Advertisement -

Big Negligence – Thousands of quintals of wheat and gram soaked in rain, strong wind storm blows away warehouses, loss of crores to the government

इन दिनों शाम को रोजाना मौसम का रुख बदल जाता है। तेज आंधी के साथ बारिश का दौर चल रहा है, फिर भी उपज की सुरक्षा के लिए कोई व्यवस्था नहीं है.

Big Negligence सीहोर– मप्र के सीहोर जिले के नसरुल्लागंज में एक Big Negligence उजागर हुई है…यंहा हवा आंधी बारिश के चलते एक वेयर हाउस के टीन उड़ गए…. जिसके चलते हजारों क्विंटल गेंहू चना बारिश में भीग गया औऱ अंकुरित होने लगा…. इसमें शासन को लाखों रुपए का नुकसान होने का अंदेशा लगाया जा रहा है.

Big Negligence : बारिश में भीगा हजारों क्विंटल गेंहू और चना, तेज हवा आंधी ने वेयर हाउस के उड़ाएं परखच्चे, सरकार को करोड़ों का नुकसान
photo by google
- Advertisement -

मिली जानकारी के मुताबिक जिले की तहसील नसरुल्लागंज के ग्राम निमोटा के शिवाय वेयर हाउस में हजारों क्विंटल गेहूं एवं चना रखा गया था….जो लापरवाही के चलते बारिश में भीग गया.. जिम्मेदारों ने कोई ध्यान नही दिया जिसके चलते गेंहू चना भीग गया और पड़े पड़े अंकुरित होने लगा. इस घटना ने विभाग ने बारिश से पहले सुरक्षा के माकूल इंतजाम नहीं किए थे जिसके चलते सरकार को करोड़ों रुपए का नुकसान हो गया है. Big Negligence

Big Negligence : बारिश में भीगा हजारों क्विंटल गेंहू और चना, तेज हवा आंधी ने वेयर हाउस के उड़ाएं परखच्चे, सरकार को करोड़ों का नुकसान
photo by google

उपार्जन केंद्रों में उपज की सुरक्षा की जि मेदारी केंद्र प्रभारी की होती है। लेकिन उपार्जन केंद्र के प्रभारी तीन दिन से मौसम खराब होने के बाद भी ढंकने के लिए पन्नी तक की खरीदी नहीं कर पाए हैं। लापरवाही की स्थिति यही रही तो पानी में भीग रही उपज पूरी तरह से सड़कर नष्ट हो जाएगी। Big Negligence

बताया गया है कि तेज हवा-आंधी बारिश ने वेयर हाउस के परखच्चे उड़ा दिए..जिसके चलते वेयर हाउस में रखा गेंहू चना भीग गया..जिम्मेदारों ने ध्यान नही दिया तो पड़े पड़े ही अंकुरित होने लगा, मामले में जब वरिष्ठ अधिकारियों से बात करनी चाही तो उन्होंने कुछ भी कहने से मना कर दिया.

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular